इंसानियत शक के दायरे में (Farmers’ killings)

मध्य प्रदेश में किसानों की मौत के बाद जो प्रतिक्रिया आई है सरकार की, वह यह है कि गोली कैसे चली, यही उसे नहीं मालूम नहीं है. दूसरे, यह भी कहा जा रहा है कि जो आंदोलन कर रहे हैं वे किसान नहीं हैं. महाराष्ट्र सरकार का कहना है कि वे असली किसानों के नेताओं से बात करेंगे. Continue reading

Advertisements